WhatsApp Channel Link

Odisha Train Accident: कवच सिस्टम क्या है? जाने कैसे काम करती है अगर ट्रेन में यह सिस्टम होती तो बच सकती थी सैकड़ों की जान

Kavach system:ओडिशा के बालासोर में हुए ट्रेन हादसे की गिनती दुनिया की सबसे बड़ी रेलवे दुर्घटनाओं में की जा रही है इस दर्दनाक हादसे में 280 से ज्यादा लोगों की जान चली गई है इसके अलावा बड़ी संख्या में लोग घायल भी हुए हैं एक तरफ जहां देश में इंफ्रास्ट्रक्चर की मजबूत बुनियाद के माध्यम से दुनियाभर के बड़े इन्वेस्टर्स को आकर्षित करने का काम किया जा रहा है वही देश में इस तरह के बड़े हादसे कई सवाल खड़े कर रहे हैं इस घटना को रोका जा सकता था वहीं बीते साल ही भारत में कवच सिस्टम की टेस्टिंग की गई थी जोकि हादसे का शिकार होने से बचाती हैं बड़े रेल हादसे का होना सोचने का विषय है तो आइए जानते हैं कवच तकनीकी है क्या और यह कैसे काम करती है

आखिर यह कैसे काम करती है

पीटीआई का रिपोर्ट के मुताबिक भारत में विकसित ऑटोमेटिक ट्रेन प्रोटेक्शन सिस्टम को रेलवे के शून्य दुर्घटना के लक्ष्य को हासिल करने में मदद करने के लिए विकसित किया गया है इस कवच को इस तरीके से तैयार किया गया है कि जिससे ट्रेन खुद ऑटोमेटिक तौर पर रुक जा ती है जब वह कुछ निर्धारित दूरी से उसे ट्रैक पर आती दूसरी ट्रेन को देखती है ट्रेन उस स्थिति में भी अपने आप रुक जाएगी जब डिजिटल सिस्टम कोई गलती जैसे रेड सिग्नल पर नहीं रुकना या किसी दूसरी खामी को देखता है

आखिर ट्रेन की स्पीड को कैसे कंट्रोल करता है

कवच सिस्टम ब्रेक के ऑटोमेटिक एप्लीकेशन के द्वारा ट्रेन की स्पीड को कंट्रोल करता है जब लोग पायलट ऐसा करने में असफल रहता है रेलवे के मुताबिक यह सिस्टम ज्यादा फ्रिकवेंसी के रेडियो कम्युनिकेशन का इस्तेमाल करके लगातार मूवमेंट करने के सिद्धांत पर काम करता है सेफ्टी इंटीग्रिटी लेवल 4 का भी पालन करता है जो सेफ्टी सर्टिफिकेशन का सबसे ऊंचा स्तर है

AD

 

REFID टैग ट्रैक और स्टेशन यार्ड पर दिए जाते हैं इनका स्माल ट्रैक ट्रेन की लोकेशन और ट्रेन की दिशा को पहचानने में किया जाता है आन बोर्ड डिस्प्ले आप सिग्नल स्पेक्ट OBDSA विजिबिलिटी के कम होने पर भी बोर्ड कंसोल्स पर सिग्नल को चेक करने में भी मदद करता है इसके साथ एक बार जब सिस्टम एक्टिवेट हो जाता है तो 5 किलोमीटर की रेंज के अंदर वाले ट्रैक पर सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए सभी ट्रेनों को हाल्ट करना होगा

आसान भाषा में जाने

कवच प्रणाली एक महत्वपूर्ण रेलवे सुरक्षा प्रणाली है जो भारतीय रेलवे द्वारा अपनाई गई है। यह एक विज्ञान, तकनीक और नवाचार के आधार पर तैयार की गई है ताकि ट्रेनों की सुरक्षा में सुधार किया जा सके। इस प्रणाली का उद्देश्य यात्रियों की सुरक्षा बढ़ाना है और उन्हें किसी भी हादसे या आपदा से बचाना है। कवच प्रणाली ने रेलवे सुरक्षा के क्षेत्र में एक बड़ी क्रांति का संकेत दिया है और इसका उपयोग भारतीय रेलवे में बदलते दौर को ध्यान में रखते हुए किया जाता है।

कवच प्रणाली में विभिन्न प्रौद्योगिकी उपयोग की जाती है जैसे कि ट्रेनों पर एनीमी डिटेक्शन सेंसर, कैमरे, थर्मल इमेजिंग, स्वचालित डोर्स और अलार्म सिस्टम शामिल हैं। ये उपकरण सक्रिय रूप से ट्रेनों की सुरक्षा मॉनिटर करते हैं और आपदा के समय आवाजाही के माध्यम से यात्रियों को सूचित करते हैं। इसके अलावा, कवच प्रणाली में GPS और वायरलेस कनेक्टिविटी का उपयोग किया जाता है ताकि ट्रेनों की स्थिति का पता लगाया जा सके और उन्हें संचार के माध्यम से कनेक्ट किया जा सके। इससे ट्रेनों के संचार, सुरक्षा और प्रबंधन को सुगम और सुरक्षित बनाया जाता है।

कवच प्रणाली में संकल्पना की गई तकनीकों का उपयोग करके, ट्रेनों के चालकों को भी सुरक्षा सुनिश्चित की जाती है। ड्राइवर अवरुद्ध करने वाली कार्रवाई करने के बारे में तत्पर रहते हैं और वे ट्रेनों को उचित रफ्तार पर लाने के लिए निरंतर मॉनिटर किए जाते हैं। इससे हादसों और अपराधों का प्रतिक्रियात्मक सामरिक उपयोग किया जा सकता है और ट्रेनों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए संबंधित अधिकारियों को त्वरित प्रतिक्रिया मिलती है।

कवच प्रणाली के बारे में अधिकांश जानकारी को इंटरनेट और सामग्री प्रदाताओं के माध्यम से पहुंचाया जा सकता है। यह सूचना यात्रियों को उनकी यात्रा के दौरान सुरक्षित रखने में मदद करती है और उन्हें अपडेट रखती है कि ट्रेनों के रूप में कौनसी सेवाएं उपलब्ध हैं और उन्हें कैसे प्रयोग किया जाए।

कवच प्रणाली के अलावा, भारतीय रेलवे ने यात्रियों की सुरक्षा के लिए अन्य महत्वपूर्ण पहल की हैं। इनमें से कुछ उदाहरण हैं वैश्विक स्तर पर सुरक्षा मानकों के पालन की जांच, रेलवे सुरक्षा बल के गठन, कैमरा सत्ररंजी वैद्युतिकरण, आधारित वायरलेस आईपी कैमरा प्रणाली आदि। इन पहलों ने यात्रियों के लिए सुरक्षित यात्रा का अनुभव मजबूत बनाने का उद्देश्य रखा है और भारतीय रेलवे की विश्वसनीयता को बढ़ावा दिया है।

कवच प्रणाली ने भारतीय रेलवे को यात्रियों की सुरक्षा के क्षेत्र में नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया है। यह प्रणाली न केवल ट्रेनों की सुरक्षा में सुधार करती है, बल्कि यात्रियों को आत्मविश्वास भी देती है कि उनकी सुरक्षा भारतीय रेलवे की प्राथमिकता है। इससे यात्री सुरक्षा और आत्मविश्वास को मजबूत किया जाता है, जो रेलवे सेवाओं के प्रयोग को बढ़ावा देता है।

कवच प्रणाली ने भारतीय रेलवे की निगरानी और प्रबंधन प्रक्रिया को सुगम और अद्यतित बनाया है। यह सुरक्षा की दृष्टि से एक महत्वपूर्ण कदम है जो यात्रियों के अधिक संरक्षित होने का वादा करता है। इस प्रणाली के माध्यम से भारतीय रेलवे यात्रियों की मांगों और आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहा है और सुरक्षा के मामले में एक मजबूत और प्रगतिशील रेलवे प्रणाली के रूप में विश्व में मान्यता प्राप्त कर रहा है।

AD4A