WhatsApp Channel Link

Deoria News: आज देवरिया के अधिकारियों ने किया गौ सेवा पहुंचे गौशाला

जिलाधिकारी के निर्देश के क्रम में आज जनपद के समस्त स्थायी, अस्थायी, काजी हाउस, कान्हा गोशालाओं पर गोशाला प्रवास दिवस के रूप में प्रातः 8.00 बजे से सायं 6.00 बजे तक मनाये जाने हेतु निर्देशित किया गया है जिसमें समस्त गोशालाओं पर संबंधित अपर मुख्य अधिकारी, जि०प०, खण्ड विकास अधिकारी. अधिशासी अधिकारी, नगर पालिका / नगर पंचायत उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी / पशु चिकित्साधिकारी, सहायक विकास अधिकारी (पं०) ग्राम सचिव, ग्राम प्रधान, लेखपाल आदि को गौशालाओं पर उपस्थित रहते हुए वहां पर विद्यमान कमियों को दूर करते हुए गोशाला को सुदृढ करने हेतु निर्देशित किये गये थे।
मुख्य विकास अधिकारी द्वारा आज वृहद गौसंरक्षण केन्द्र, पिपरा चन्द्रमान में आयोजित गौशाला प्रवास दिवस के दौरान अपरान्ह 2.20 बजे निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, देवरिया, जिला पंचायत राज अधिकारी, देवरिया खण्ड विकास अधिकारी, देवरिया सदर, सहायक विकास अधिकारी (पं०), देवरिया सदर, गौशाला प्रभारी पशु चिकित्साधिकारी देवरिया सदर, पशुधन प्रसार अधिकारी, देवरिया, ग्राम सचिव आदि अन्य ग्रामवासीगण उपस्थित थे।
मुख्य विकास अधिकारी द्वारा इस गौशाला में रखे गये गोवंश को माला पहनाकर पूजन किया गया तद्पश्चात अधोहस्ताक्षरी एवं अन्य उपस्थित समस्त अधिकारीगण द्वारा सभी गोवंशों को केला, गुड़, चना आदि खिलाया गया तथा निर्देश दिया गया कि इन्हें नियमित रूप से संतुलित आहार प्रदान किया जाए। इस गौशाला में गोवंश की संख्या-220 पायी गयी जिसमें सभी गोवंशों का टैगिंग किया जाना पाया गया। गौशाला में साफ-सफाई ठीक पायी गयी तथा गोवंशों को हरा चारा, चोकर दाना एवं भूसा खिलाया जा रहा था।


निरीक्षण के समय यह पाया गया कि सभी गोवंशों को एक साथ रखे गये हैं जिनमें मादा गोवंश को अलग सेड में रखने हेतु निर्देशित किया गया तथा छोटे गोवंशों को भी अलग सेड में रखा जाय ताकि आपस में चोटिल न हो। बीमार गोवंशों के लिए अतिरिक्त कक्ष में रखा जाए तथा नियमित इलाज किया जाए। इस गौशाला में बाउण्ड्रीवाल निर्माण हेतु क्रिटिकल गैप से धनराशि दो माह पूर्व ही कार्यदायी संस्था लोक निर्माण विभाग (नि०ख०). देवरिया दी गयी है. परन्तु अभी तक बाउण्ड्रीवाल का निर्माण कार्य प्रारम्भ नहीं किया गया है, जो अत्यंत ही खेदजनक है। अधिशासी अभियन्ता, लो०नि०वि० नि०या० को निर्देशित किया गया कि तत्काल बाउण्ड्रीवाल का निर्माण कार्य प्रारम्भ कराते हुए पूर्ण करायें।
गोवंशों की संख्या को देखते हुए चारागाह के खेत का निर्माण एवं फेसिंग कराते हुए अधिक से अधिक हरा चारा उत्पादन कराया जाए, ताकि गोवंशों का नियमित रूप से हरा चारा प्राप्त होता रहे। खण्ड विकास अधिकारी, देवरिया सदर को यह निर्देशित किया गया कि कैटर कैचर से सब्जी मण्डी से सब्जी अवशेष सब्जियों को नियमित रूप से इस गौशाला में आपूर्ति कराया जाए। साथ ही यह भी निर्देशित किया गया कि इस गोशाला में परिसर की जल निकासी हेतु रिचार्ज पिट बनवाना सुनिश्चित करें।
मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, देवरिया द्वारा अस्थायी गोवंश आश्रय स्थल बनटिकरा, बैतालपुर का निरीक्षण किया गया जिसमें समस्त संबंधित अधिकारी / कर्मचारी उपस्थित थे। निरीक्षण में इस गोजाश्रय में बाउन्ड्रीवाल वर्मी कम्पोस्ट पिट, सोकपिट, चारागाह हेतु भूमि के निर्माण की आवश्यकता बतायी गयी।


गोवंश आश्रय स्थल, हरपुरकला वि०ख० रामपुर कारखाना में समस्त संबंधित अधिकारी / कर्मचारी उपस्थित थे। गोशाला में 32 गोवंश संरक्षित पाये गये तथा सभी गोवंश स्वस्थ्य हैं। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी द्वारा निराश्रित गोवंश का पूजन करते हुए हरा चारा, गुड़, चना एवं केला खिलाया गया। निरीक्षण में इस गोआश्रय में चारा बुआई के लिए खेत निर्माण किया जा चुका था, शीघ्र ही चारा बोने एवं वर्मी कम्पोस्ट पिट के निर्माण हेतु निर्देशित किया गया। गोशालाओं से संबंधित समस्त अभिलेख पूर्ण पाये गये।
इसी प्रकार जनपद के शेष अन्य गोशालाओं में समस्त संबंधित अधिकारियों/कर्मचारियों / जन प्रतिनिधिगण उपस्थित रहे तथा अपनी-अपनी गोशालाओं को को समृढ़ करने हेतु संकल्प लिये तथा जहाँ जो भी कमियों थी या तो उसे दूर कर लिया गया अथवा शीघ्र ही संबंधित द्वारा दूर कर लिया जायेगा। इस प्रकार जनपद छुट्टा गोवंश से मुक्त होने के साथ-साथ गोआश्रयों में संरक्षित गोवंश भी स्वस्थ्य एवं हिस्टपुस्ट रहेंगे।

AD

 

AD4A