WhatsApp Channel Link

Deoria News: सामाजिक सहभागिता शिविर के तहत रुद्रपुर के सतासी इंटर कॉलेज में आयोजित हुआ कार्यक्रम

जिला प्रशासन एवं एलिम्को के संयुक्त तत्वावधान में आज एडिप योजना अंतर्गत सतासी इंटर कॉलेज, रुद्रपुर में आयोजित समाजिक सहभागिता शिविर में 172 दिव्यांगजनों को 33 लाख रुपये मूल्य के 264 उपकरण वितरित किए गए। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बरहज विधायक दीपक मिश्रा शाका ने कहा कि डबल इंजन की सरकार समाज के सभी वर्गों के हितों के लिए कार्य कर रही है। दिव्यांगजनों को कई आधुनिक उपकरण निःशुल्क दिए जा रहे हैं, जिससे उनका जीवन सुगम होगा। उन्होंने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार के प्रयासों के फलस्वरूप दिव्यांगजन सशक्त हुआ है और समाज की मुख्य धारा से जुड़कर सकारात्मक योगदान दे रहा है।


एमएलसी रतनपाल सिंह ने कहा कि दिव्यांगजन इन उपकरणों के माध्यम से आत्मनिर्भर बने। दिव्यांगजनों में विशिष्ट प्रतिभा होती है। सरकार उन्हें उनका वाजिब हक देकर विकास की मुख्यधारा से जोड़ रही है।
जिलाधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने बताया कि 55 मोटराइज्ड ट्राईसाईकिल, 57 मैन्युअल ट्राईसाइकिल, 28 फोल्डिंग व्हील चेयर, 64 बैसाखी, 3 सीपी चेयर, 20 वॉकिंग स्टिक, 1 रोलेटर, 14 स्मार्ट केन, 14 कान की मशीन सहित 264 उपकरण वितरित किये गए हैं। इन उपकरणों से दिव्यांगजनों के जीवन में बड़ा बदलाव आएगा।


एलिम्को के प्रतिनिधि पंकज द्विवेदी ने बताया तीन दिवसीय सहभागिता शिविर में जनपद के 1490 दिव्यांगजनों को 2,492 उपकरण निःशुल्क वितरित किये गए हैं। कार्यक्रम का संचालन जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी कृष्णकांत राय ने किया।

AD

 


इस अवसर पर सांसद सलेमपुर प्रतिनिधि सुनील पासवान, सीडीओ रवींद्र कुमार, एसडीएम रुद्रपुर विपिन द्विवेदी, सीओ जिलाजीत, जिला युवा कल्याण अधिकारी नितीश राय, राजीव कुमार सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

बॉक्स संख्या 1

जिला प्रशासन कराएगा श्रवण बाधित बच्चों का कॉक्लियर इंप्लांट निःशुल्क, सात लाख आती है लागत

    जिलाधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने कहा कि जनपद में कॉक्लियर इंप्लांट हेतु पात्र बच्चों का चयन किया जा रहा। ऐसे बच्चे जो शून्य से 5 आयु वर्ग के हो और उनमें सुनने की क्षमता विकसित न हुई हो तो उनका कॉक्लियर इंप्लांट कराया जाता है। इसके इलाज पर लगभग सात लाख रुपये का खर्च आता है, लेकिन जिला प्रशासन सभी बच्चों का कॉक्लियर इंप्लांट निःशुल्क कराएगा। उन्होंने बताया कि 0-05 आयु वर्ग के श्रवण बाधित बच्चे कॉक्लियर इंप्लांट के पश्चात सामान्य जीवन व्यतीत करते हैं। अभी तक 133 बच्चों को चिन्हित किया जा चुका है। उन्होंने जनपद वासियों से अनुरोध किया कि यदि उन्हें ऐसा कोई बच्चा दिखे तो उसकी सूचना विकास भवन स्थित जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी कार्यालय में दें अथवा विभागीय नंबर  9839910009 पर सूचित करें।
AD4A