WhatsApp Channel Link

Deoria News: देवरिया जिलाधिकारी की अध्यक्षता में उद्योग बंधु की बैठक आयोजित

द्यमियों की समस्याओं के त्वरित समाधान करने तथा जनपद में औद्योगिक माहौल बेहतर करने के लिए जिलाधिकारी अखंड प्रताप सिंह की अध्यक्षता में देर सायं जिला स्तरीय उद्योग बंधु एवं कानून सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि उद्यमियों की समस्याओं का समयबद्ध एवं गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित करते हुए देवरिया को इन्वेस्टर फ्रेंडली जनपद के रूप में विकसित किया जाएगा।


उपायुक्त उद्योग खुशबू सिंह ने बताया कि उद्यमी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (यूआरसी) पोर्टल के माध्यम से कुल लक्ष्य 7500 के सापेक्ष 4,656 उद्यमियों का पंजीकरण हुआ है, जिस पर डीएम ने जनपद के सभी उद्यमियों एवं व्यापारियों का पंजीकरण कराने के लिए जागरूकता अभियान चलाने का निर्देश दिया। डीएम ने बताया कि उद्यम रजिस्ट्रेशन के कई लाभ हैं जिसमें पंजीकृत व्यक्ति को पांच लाख रुपये तक दुर्घटना बीमा योजना की सुविधा, शासकीय खरीद में एमएसएमई का कोटा आरक्षित होगा। उन्होंने बताया कि एमएसएमई उद्यमियों को विभिन्न टेंडरों में सीएमडी अनुभव एवं टर्नओवर में छूट बैंक द्वारा विभिन्न योजनाओं में एमएसएमई को वरीयता एवं सीजीएसटीएमएसई योजना के अंतर्गत बिना कोलेटरल सिक्योरिटी के लोन की सुविधा आदि मिलेगी।


जिलाधिकारी ने इन्वेस्टर सम्मिट के दौरान जनपद में हुए निवेश प्रस्तावों की भी समीक्षा की। बताया गया कि 630 करोड़ रुपये के 49 निवेश प्रस्ताव धरातल पर उतरने के लिए तैयार हैं, जिनसे 3,242 रोजगार का सृजन होगा। डीएम ने अन्य निवेशकों के संपर्क में रहने तथा उनकी समस्याओं को दूर करने का निर्देश दिया।
उद्यमियों ने सुरक्षा के दृष्टिकोण से औद्योगिक क्षेत्र उसरा बाजार में कोई फायर स्टेशन ना होने तथा राजकीय औद्योगिक आस्थान देवरिया में सड़क एवं नाली के निर्माण का मुद्दा भी उठा जिस पर डीएम ने त्वरित कार्रवाई हेतु आश्वस्त किया।
निवेश मित्र पोर्टल के माध्यम से विभिन्न विभागों द्वारा अनापत्ति प्रमाण निर्गत करने के मामले में जनपद का प्रदेश में दसवां स्थान है। निवेश मित्र पोर्टल पर विभिन्न विभागों में कुल 382 आवेदन आए थे, जिसमें से 319 का निस्तारण निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत कर दिया गया।

AD

 


जिलाधिकारी ने कृषि आधारित उद्यम को प्रोत्साहित करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जनपद में 90 प्रतिशत से अधिक आबादी प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से कृषि से जुड़ी है। ऐसे में कृषि आधारित उद्योगों के स्थापित होने की बेहतर संभावना है।
बैठक में पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा, एडीएम वित्त एवं राजस्व अरुण कुमार राय, पूर्व विद्यायक एवं उद्यमी रविन्द्र प्रताप मल्ल, आईआईए के मंडलीय अध्यक्ष जेपी जायसवाल, उद्यमी शक्ति गुप्ता, सीवीओ अरविंद कुमार वैश्य, ड्रग इंस्पेक्टर रुद्रेश त्रिपाठी, डीएचओ राम सिंह यादव सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

AD4A