WhatsApp Channel Link

Deoria News: देवरिया में समग्र शिक्षा के तहत संविदा पर विभिन्न पदों के लिए साक्षात्कार की तिथि घोषित

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी शालिनी श्रीवास्तव ने बताया है कि समग्र शिक्षा के अंतर्गत सभी गतिविधियों को सुचारू रूप से संपादित किए जाने और प्रबंधन कार्यों के समुचित अनुश्रवण के उद्देश्य से संविदा पर (आउटसोर्सिंग के माध्यम से) जिला समन्वयक (निर्माण) के 1 पद, ईएमआईएस इंचार्ज के 1 पद, ब्लाक एमआईएस कोऑर्डिनेटर के 2 पद और कंप्यूटर ऑपरेटर के 3 पद भरे जाने हेतु आवेदन प्रकाशित किए गए थे।

मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में उक्त पदों हेतु आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों का समिति के सदस्यों के समक्ष रैंडमाइजेशन कराया गया। रैंडमाइजेशन प्रक्रिया के तहत, सेवायोजन पोर्टल द्वारा चयनित अभ्यर्थियों को ईमेल के माध्यम से सूचित किया गया है। इन चयनित अभ्यर्थियों का साक्षात्कार 6 जुलाई को पूर्वाह्न 10:30 बजे से गांधी सभागार, विकास भवन, देवरिया में आयोजित किया जाएगा।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने चयनित अभ्यर्थियों को सूचित किया है कि वे निर्धारित तिथि और समय पर पहुंचकर साक्षात्कार में भाग लें। इस साक्षात्कार के माध्यम से जिला समन्वयक (निर्माण), ईएमआईएस इंचार्ज, ब्लाक एमआईएस कोऑर्डिनेटर और कंप्यूटर ऑपरेटर के पदों पर नियुक्तियां की जाएंगी।

AD

 

इस प्रक्रिया का उद्देश्य समग्र शिक्षा अभियान को मजबूती प्रदान करना है, जिससे शिक्षा के क्षेत्र में गुणात्मक सुधार हो सके। जिला समन्वयक (निर्माण) का कार्य मुख्य रूप से निर्माण कार्यों की देखरेख और प्रबंधन होगा। ईएमआईएस इंचार्ज का कार्य शिक्षा प्रबंधन सूचना प्रणाली (ईएमआईएस) को सुचारू रूप से संचालित करना होगा। ब्लाक एमआईएस कोऑर्डिनेटर का कार्य ब्लॉक स्तर पर डेटा संग्रह और रिपोर्टिंग करना होगा, जबकि कंप्यूटर ऑपरेटर का कार्य विभिन्न प्रशासनिक और प्रबंधन कार्यों में कंप्यूटर संबंधित सहायता प्रदान करना होगा।

इस प्रक्रिया के माध्यम से जिला शिक्षा विभाग यह सुनिश्चित करना चाहता है कि समग्र शिक्षा के अंतर्गत सभी गतिविधियां बिना किसी रुकावट के और कुशलता से संपन्न हो सकें। इस हेतु, उच्च गुणवत्ता वाले पेशेवरों का चयन करना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

साक्षात्कार के दौरान, अभ्यर्थियों का मूल्यांकन उनकी योग्यता, अनुभव, और तकनीकी कौशल के आधार पर किया जाएगा। यह भी देखा जाएगा कि वे समग्र शिक्षा अभियान के उद्देश्यों और लक्ष्यों के प्रति कितने जागरूक और समर्पित हैं।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने कहा कि इस प्रक्रिया के माध्यम से चयनित अभ्यर्थी जिले के शिक्षा क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। यह कदम शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने और बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रदान करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण प्रयास है।

उन्होंने यह भी बताया कि संविदा पर नियुक्ति के बावजूद, चयनित अभ्यर्थियों को उनके प्रदर्शन के आधार पर स्थायी नियुक्ति का भी अवसर मिल सकता है। इस प्रकार, यह चयन प्रक्रिया उनके लिए एक महत्वपूर्ण अवसर हो सकती है।

इसके अतिरिक्त, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने यह भी बताया कि चयन प्रक्रिया पूरी तरह से पारदर्शी और निष्पक्ष होगी। सभी अभ्यर्थियों को समान अवसर प्रदान किया जाएगा और किसी भी प्रकार की भेदभावपूर्ण नीति को नहीं अपनाया जाएगा।

चयनित अभ्यर्थियों से यह अपेक्षा की जाती है कि वे अपने कार्य में पूर्ण समर्पण और ईमानदारी के साथ जुटेंगे। उनके कार्य से न केवल समग्र शिक्षा अभियान को बल मिलेगा, बल्कि बच्चों की शिक्षा गुणवत्ता में भी सुधार होगा।

अंततः, इस चयन प्रक्रिया का मुख्य उद्देश्य शिक्षा के क्षेत्र में सुधार लाना और बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने कहा कि इस दिशा में वे सभी आवश्यक कदम उठाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और इस प्रक्रिया को सफल बनाने के लिए सभी संबंधित पक्षों का सहयोग अपेक्षित है।

इस प्रकार, संविदा पर नियुक्ति की यह प्रक्रिया न केवल जिले के शिक्षा क्षेत्र को सुदृढ़ करेगी, बल्कि इससे शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार और सुधार की दिशा में महत्वपूर्ण प्रगति भी होगी। सभी चयनित अभ्यर्थियों को शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने कहा कि वे अपने कार्य में सफलता प्राप्त करें और शिक्षा के क्षेत्र में नए कीर्तिमान स्थापित करें।

AD4A