WhatsApp Channel Link

मशहूर डायरेक्टर सिकंदर भारती का निधन: फिल्म जगत में शोक की लहर

मुंबई, 25 मई 2024 – हिंदी सिनेमा के मशहूर फिल्म डायरेक्टर सिकंदर भारती का 60 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। 24 मई को मुंबई में उन्होंने अंतिम सांस ली। 25 मई को सुबह 11 बजे ओशिवारा श्मशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। फिल्म जगत की कई प्रमुख हस्तियां उनके अंतिम संस्कार में शामिल हुईं और नम आंखों से उन्हें विदाई दी।

एक सशक्त निर्देशक का सफर

सिकंदर भारती ने हिंदी सिनेमा में कई हिट फिल्मों का निर्देशन किया। उनकी प्रमुख फिल्मों में ‘घर का चिराग’, ‘जालिम’, ‘रुपए दस करोड़’, ‘भाई भाई’, ‘सैनिक सिर उठा के जियो’, ‘दंडनायक’, ‘रंगीला राजा’, ‘पुलिस वाला’ और ‘दो फंटूश’ शामिल हैं। उन्होंने अपने करियर के दौरान राजेश खन्ना, शाहरुख खान, अक्षय कुमार, और गोविंदा जैसे बड़े स्टार्स के साथ काम किया। उनके निर्देशन में बनी फिल्में दर्शकों के दिलों में खास जगह बनाती थीं।

एक समर्पित और ईमानदार कलाकार

सिकंदर भारती अपने काम के प्रति पूरी शिद्दत से समर्पित थे। वे हमेशा इस बात की परवाह किए बिना काम करते थे कि उनकी फिल्म हिट होगी या फ्लॉप। उनकी हर फिल्म में दर्शकों के लिए कोई न कोई संदेश छिपा होता था। उनका मानना था कि सिनेमा सिर्फ मनोरंजन का साधन नहीं, बल्कि समाज को दिशा देने का एक महत्वपूर्ण माध्यम भी है।

AD

 

परिवार और फैंस का शोक

सिकंदर भारती के परिवार में उनकी पत्नी पिंकी और तीन बच्चे सिपिका, युविका, और सुकरात हैं। उनके निधन से परिवार में शोक की लहर है और फिल्म इंडस्ट्री के उनके प्रशंसकों की आंखें नम हैं। फिल्म जगत के कई सितारों ने सोशल मीडिया पर उनके प्रति अपनी संवेदनाएँ व्यक्त की हैं और उन्हें एक सच्चा और समर्पित कलाकार बताया है।

विवादों से दूर

सिकंदर भारती का जीवन हमेशा विवादों से दूर रहा। उन्होंने अपने काम और संबंधों में कभी कोई विवाद नहीं आने दिया। उनके सभी सहकर्मियों के साथ उनके अच्छे संबंध थे और यह उनकी फिल्मों में भी झलकता था। उनके निधन के बाद भी उनके प्रति सभी के दिलों में सम्मान और प्यार बना हुआ है।

उनके निधन का कारण

अभी तक उनके निधन के कारण की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। उनके परिवार की ओर से भी इस बारे में कोई बयान जारी नहीं किया गया है। उनके प्रशंसक और फिल्म इंडस्ट्री के लोग इस सदमे से उबरने की कोशिश कर रहे हैं और उनके द्वारा किए गए कार्यों को याद कर रहे हैं।

एक युग का अंत

सिकंदर भारती का निधन हिंदी सिनेमा के लिए एक बड़ी क्षति है। उन्होंने अपने निर्देशन में बनी फिल्मों के माध्यम से जो योगदान दिया, वह सदैव याद रखा जाएगा। उनकी फिल्मों ने दर्शकों को हंसाया, रुलाया और सोचने पर मजबूर किया। उनकी फिल्मों के संदेश और उनके निर्देशन का तरीका हमेशा प्रेरणा देता रहेगा।

उनकी फिल्मों का असर

सिकंदर भारती की फिल्मों ने न सिर्फ बॉक्स ऑफिस पर धूम मचाई, बल्कि समाज को भी एक नई दिशा दी। उनकी फिल्मों के संवाद, कहानी और निर्देशन का तरीका हमेशा प्रशंसनीय रहा। उन्होंने अपने हर प्रोजेक्ट में कुछ नया और अनोखा करने की कोशिश की, जिससे वे हमेशा दर्शकों के दिलों में एक खास जगह बनाए रखने में सफल रहे।

अंतिम विदाई

ओशिवारा श्मशान घाट पर उनके अंतिम संस्कार में फिल्म जगत की कई प्रमुख हस्तियां शामिल हुईं। सभी ने नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी और उनके प्रति सम्मान व्यक्त किया। उनका निधन सिनेमा जगत के लिए एक बड़ी क्षति है और उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा।

AD4A