WhatsApp Channel Link

Shimla Mirch : शिमला मिर्च हुआ एक रुपए किलो किसान सड़क पर फेंकने के लिए मजबूर

जहां की शिमला मिर्च उत्तर प्रदेश बिहार जैसे राज्यों में इनके उपलब्धता में कमी पाई जाती है और महंगी होने के कारण लोग इन्हें कम खरीदारी करते हैं क्योंकि उन्हें मांगा होने के कारण लेने में भी लोग खतराने लगते हैं वहीं कुछ जगह पे किसान को इसका उत्पादन की लागत मूल्य भी नहीं लौट पा रहे हैं वही किसान को उसका भाड़ा ना निकल पाने के कारण सड़क पर फेंकने को मजबूर हो गए है आखिर ऐसा क्या हुआ कि किसान शिमला मिर्च को सड़क पर फेंकने के लिए मजबूर हो गए हैं आइए पूरी खबर जानते हैं विस्तार से

तो आपको बता दें कि बेमौसम बारिश ओलावृष्टि ने किसानों को जमकर नुकसान पहुंचाया है किसानों की लाखों रुपए की फसल बर्बाद हो गई है मगर किसानों की समस्या यही कम नहीं हो रही है किसानों की फल सब्जी की बुवाई में भी काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है अधिक पैदावार होने पर इतने भाव किसानों को नहीं मिल पा रही है इसी वजह से भी परेशानी अधिक हो रही है भाड़ा भी न निकलने के कारण नाराज किसान सब्जियों को सड़क पर फेंक रहे हैं

व्यापारियों ने किसानों पर बनाए दबाव

AD

 

तो आपको बता दे कि बताया गया कि अधिक आवक देख व्यापारियों ने किसानों पर शिमला मिर्च ₹1 प्रति किलो बेचने पर दबाव बनाया इससे किसान नाराज हो गए पंजाब में 3 लाख हेक्टेयर में हरी सब्जियां बोई जाती हैं 15 सौ हेक्टर में शिमला मिर्च का उत्पादन होता है जिनमें कुछ जिले है फिरोजपुर संगरूर और मानसा जिले में सबसे अधिक शिमला मिर्च की खेती की जाती है

शिमला मिर्च का भाव व एक रुपए किलो

तो वही आपको बता दें कि पंजाब के किसानों को शिमला मिर्च में खास नुकसान उठाना पड़ रहा है व्यापारी एक रुपए किलो शिमला मिर्च खरीद रहे हैं और उनका यहां तक भाड़ा तक नहीं निकल पा रहा है जिससे किसान सड़क पर फेंकने को मजबूर हो गए हैं पंजाब की शिमला मिर्च की हालत इतनी खराब हो गई है किसान मंडी लेकर शिमला पहुंच रहे हैं मगर व्यापारी किसान से ₹ 1 प्रति किलो ही शिमला मिर्च खरीद रहा है मनसा जिले में बहुत अधिक शिमला मिर्च की पैदावार हुई है यहां के किसान भी शिमला मिर्च को अच्छे दामों में मंडी में अच्छे दामों पर नहीं बेच पा रहे हैं

AD4A