WhatsApp Channel Link

Deoris News: देवरिया के लार में मिलता है गाजा मिठाई अमेरिका से लेकर ऑस्ट्रेलिया तक होती है इसकी डिमांड

देवरिया जनपद में लार बाजार में एक दुकान पर एक ऐसी मिठाई मिलती है जिसका डिमांड अमेरिका से लेकर ऑस्ट्रेलिया तक होती है गाजा मिठाई के नाम से मशहूर जिसे खाने के लिए दूर-दूर से लोग पहुंचते हैं,

देवरिया जनपद मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर बिहार बॉर्डर स्थित देवरिया का प्रसिद्ध बाजार लार में दूध से निर्मित गाजा मिठाई का जलवा इस कदर है कि लोग इसे खाने के लिए बिहार राज्य और उत्तर प्रदेश के कोने-कोने से पहुंचते हैं खास बात यह है कि गाजा मिठाई केवल देवरिया जनपद के लार में ही मिलता है यही वजह है कि इस मिठाई का चर्चा चारों तरफ है कहा जाता है कि इस मिठाई की डिमांड अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों के लोग भी करते हैं जो भारतीय इस क्षेत्र के जाकर अमेरिका में काम करते हैं या वहा रहते हैं वह भी इस मिठाई का तारीफ करते हैं ऑस्ट्रेलिया में भी जो यहां से छात्र पढ़ने जाते हैं या कुछ लोग मजदूरी करने जाते हैं इस गाजा मिठाई को खूब मिस करते हैं,

AD

 

गाजा मिठाई का स्वाद अपने आप में अनूठा है क्योंकि मिठास से भारी यह गाजा मिठाई अपने नाम की वजह से भी जाना जाता है गांजा एक नशीला पदार्थ भी आता है जो पूरी तरह से प्रतिबंध है लेकिन उसी के नाम पर यह मिठाई इतना मशहूर है कि देवरिया जनपद के लोग इस मिठाई को खाने के लिए देवरिया के कोने-कोने से पहुंचते हैं वहीं दुकानदार का कहना है कि यह मिठाई बहुत ही स्वादिष्ट होता है,

गाजा मिठाई कैसे बनाई जाती है

बात की जाए देवरिया जनपद के लार बाजार में बनने वाली मशहूर गाजा मिठाई कैसे बनती है तो वहीं दुकानदार का कहना है कि यह मिठाई बनाने की सरल प्रक्रिया है दुकानदार का कहना है कि यह मिठाई शुद्ध खोवा से बनाई जाती है उसे खोवा से जिसमें शुद्धता 100% होती है शुद्ध दूध से खोवा बनाया जाता है फिर खोवा आटा के जैसे गोदा जाता है फिर खोवा को गांजा मिठाई का आकार दिया जाता है उसके बाद उसे चीनी के पाग में आधे घंटे तक डुबोया जाता है जिसके बाद उसमें चीनी का रस घुस जाता है और स्वाद इतना बेहतरीन होता है कि जो व्यक्ति एक बार खा लेता है वह बार-बार खाने के लिए आता है,

गाजा मिठाई का दीवाना लोग इस कदर है कि खाने के बाद अपने घर परिवार के लिए भी दुकान से खरीद कर ले जाते हैं वहीं दुकानदार का कहना है कि इस मिठाई की वजह से लार में बहुत लोग आते हैं और मिठाई खाते हैं और साथ में लेकर जाते हैं छोटी सी दुकान अपनी पहचान बनाली है क्योंकि यह मिठाई अपने आप में जितना अनोखा है उतना ही अनोखा इस मिठाई का नाम है जिस वजह से और भी अच्छा लगता है वही गांजा मिठाई की बात की जाए तो एक पीस गाजा मिठाई ₹30 की मिलती है इतनी महंगी होने के बावजूद भी लोग इसे बड़ी चाव से खाते हैं

AD4A