WhatsApp Channel Link

Deoria News: डीएम की अध्यक्षता में किसान सम्मान निधि योजना की हुई बैठक

जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में शुक्रवार देर सायं किसान सम्मान निधि योजना की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना अंतर्गत जनपद के 477000 किसान वर्तमान में लाभान्वित हो रहे हैं,परंतु अभी भी कुछ किसान इस योजना के लाभ से वंचित हैं। यह विभिन्न कारणों से हो सकते हैं जैसे कृषक का पंजीकरण न होना, ओपन सोर्स से पंजीकरण के उपरांत तहसील/ जनपद/ राज्य स्तर पर डाटा लंबित होना , भूलेख अवशेष , बैंक खाता आधार से लिंक न होना अर्थात एनपीसीआई पेंडिंग तथा पूर्व में गलत तरीके से अपात्र श्रेणी में फीडिंग होना है। उन्होंने कहा कि इन कमियों को दूर कराते हुए कृषक को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से लाभान्वित कराने हेतु पी एम किसान संतृप्तिकरण महा अभियान चलाया जाएगा, जिसके अंतर्गत 22 मई से 10 जून 2023 तक ग्राम पंचायत में पंचायत भवन पर कैंप आयोजित किया जाएगा जहां कृषि विभाग, राजस्व विभाग , ग्राम्य विकास , इंडियन पोस्टल बैंक तथा स्थानीय जन सेवा केंद्र के कर्मी मौजूद रहेंगे तथा समस्या का समाधान करेंगे।


जिलाधिकारी ने कहा कि पी एम किसान योजना के सफल क्रियान्वयन हेतु जनपद स्तर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवम राजस्व को नोडल अधिकारी नामित किया गया हैं। उन्होंने कहा कि इस कैम्प के ठीक प्रकार से क्रियान्वयन हेतु ग्राम पंचायत स्तर पर कृषि विभाग का क्षेत्रिय कर्मी , विकास खंड स्तर पर सहायक विकास अधिकारी कृषि और खंड विकास अधिकारी तथा तहसील स्तर पर उपजिलाधिकारी और उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी नोडल नामित किया गया है। जिलाधिकारी ने संबंधित बिभागो के अधिकारियों को निर्देशित किया कि ग्राम पंचायत के कर्मचारी ग्राम पंचायत की कैम्प तिथि को कैम्प स्थल पर प्रातः 9 बजे से सायंकाल 6 बजे तक उपस्थित रहकर कृषक की समस्या का निदान करें साथ ही उनके द्वारा कृषकों से भी अनुरोध किया जाए कि जो भी किसान पी एम किसान योजना के लाभ से वंचित है कैम्प तिथि को सभी डॉक्यूमेंट लेके मौके पर उपस्थित होकर कमी को दूर कराते हुए योजना का लाभ उठायें ।


सीडीओ रवींद्र कुमार ने बताया कि कैंप से पूर्व 20 मई 2023 तक समस्त ग्राम पंचायतों में डोर टू डोर सर्वे के माध्यम से ऐसे किसानों को चिन्हित भी किया गया है । डोर टू डोर सर्वे ग्राम प्रधान के नेतृत्व में ग्राम पंचायत स्तरीय पंचायत सहायक ,रोजगार सेवक एवं तकनीकी सहायक कृषि द्वारा किया गया है । डोर टू डोर सर्वे के दौरान कृषकों को ग्राम पंचायत में कैंप तिथि से भी अवगत कराया गया है । कृषक अपने आधार कार्ड की प्रति ,बैंक पासबुक की प्रति , खतौनी की प्रति तथा घोषणा पत्र के साथ उपस्थित होकर कमी को दूर कराएंगे तथा पीएम किसान योजना से लाभान्वित होंगे । उन्होंने बताया कि जनपद में 8000 कृषक पी एम किसान पोर्टल पर भूलेख से वंचित है । ऐसे कृषक कैम्प तिथि को अपने खतौनी की प्रति उपलब्ध कराकर प्राप्त कर सकते है योजना का लाभ ले सकते है।
उपनिदेशक कृषि विकेश कुमार ने बताया कि जनपद के 71000 कृषकों का पीएम किसान बैंक खाता एनपीसीआई लिंक नही है , ऐसे किसान कैम्प की तिथि पर उपस्थित इंडिया पोस्टल बैंक कर्मी के माध्यम नया पोस्टल बैंक एकाउंट खुलवा कर योजना का त्वरित लाभ ले सकते है । 138000 कृषक का बैंक खाता ईकेवाईसी से अवशेष है ऐसे कृषक अपने आधार कार्ड के साथ कैम्प में सहज जन सेवा केंद्र के माध्यम से ईकेवाईसी करवा सकते है, अन्यथा पी एम किसान की 14 वी क़िस्त से वंचित रहेंगे । ऐसे कृषक जो पूर्व में योजना का लाभ पाते थे वर्तमान में उनकी मृत्यु हो गए है , राजस्व विभाग द्वारा उनका वरासत दर्ज किया जाएगा । वरासत दर्ज होने के बाद संबंधित कृषक जन सेवा केंद्र के माध्यम से नया पंजीकरण कराते हुए समस्त प्रपत्र की एक प्रति कृषि विभाग के कर्मी को उपलब्ध कराते हुए , योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है ।यदि कोई कृषक पूर्व में पोर्टल पर गलत अपात्र हो गया है तो ऐसे कृषक कैम्प में कृषि विभाग के कर्मी को अपना खतौनी, बैंक पासबुक , आधार कार्ड, घोषणा पत्र उपलब्ध कराकर योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है। बैठक में एडीएम वित्त एवं राजस्व नागेंद्र कुमार सिंह, एसडीएम सौरभ सिंह, एसडीएम अरुण कुमार, एसडीएम संजीव कुमार उपाध्याय, एसडीएम योगेश कुमार गौड़, जिला कृषि अधिकारी मोहम्मद मुजम्मिल सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

AD

 

AD4A