WhatsApp Channel Link

Deoria News: सीडीओ ने गत वर्ष में किसानों के क्षतिपूर्ति का दावा, प्राप्त लाभ का विवरण एवं दावा निरस्त होने के कारण की सूचना उपलब्ध कराए जाने का दिया निर्देश

त्तर प्रदेश शासन के निर्देशानुसार आज माह के तीसरे बुधवार को किसान दिवस का आयोजन मुख्य विकास अधिकारी प्रत्यूष पाण्डेय की अध्यक्षता में विकास भवन के गांधी सभागार में किया गया। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा किसान दिवस की बैठक में उपस्थित जिला समन्वयक, एग्रीकल्चर इन्श्योरेंश कम्पनी को निर्देश दिये गये कि गत वर्ष कितने किसानों ने क्षतिपूर्ति का दावा किया था, कितने किसानों को क्षतिपूर्ति का लाभ मिला एवं कितने किसानों का दावा किन कारणों से निरस्त किया गया, की सूचना उपलब्ध करायें।


उप कृषि निदेशक राजेश कुमार सिंह ने किसान बैठक की शुरूआत करते हुए पिछली कार्यवाही की अनुपालन आख्या पढ़कर कर सुनाया गया। उप कृषि निदेशक ने कृषि विभाग में संचालित योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी गयी। कृषकों से अनुरोध किया गया कि अपने खेतों में फसल अवशेष न जलायें और फसल अवशेष जलाने से होने वाले नुकसान के बारे में बताया गया। इसी क्रम में बताया गया कि यदि कोई भी किसान फसल अवशेष जलाता है तो उसके खिलाफ अर्थदण्ड भी लगाया जायेगा। मा० सर्वोच्च न्यायालय तथा मा० राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकारण के निर्देशों के क्रम में फसल अवशेष जलाना दण्डनीय अपराध है जिसमें 02 एकड़ तक 2500 रू0 02 से 05 एकड़ तक 5000 रू0 व 05 हे0 से अधिक क्षेत्रफल वाले किसानों के ऊपर 15000 रू0 का जुर्माना तथा कारावास की सजा का भी प्रावधान है। यदि किसान भाई धान की कटाई के उपरान्त पराली में आग लगाते हैं तो सैटेलाईट के माध्यम से विभाग को सूचना प्राप्त हो जायेगी इसलिए कृषकों से अनुरोध है कि किसान भाई अपने खेत में पराली व अन्य अवशेषों का प्रबंधन करें एवं मशीनों का प्रयोग कर उसे मिट्टी में पलट दें अथवा बेस्ट डिकम्पोजर का प्रयोग कर खेत में ही सड़ा दें, जिससे आपकी जमीन की उत्पादकता बढ़े व खाद के लिए आपको कम खर्च करना पड़े।
जिला कृषि अधिकारी मृत्युंजय सिंह ने जनपद में उपलब्ध उर्वरकों की जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में यूरिया की उपलब्धता 43754, डी0ए0पी0-4808, एन०पी०के०-3363, एम0ओ0पी0-500 एवं सिंगल सुपर फास्फेट-1460 मी0टन उपलब्ध है। इसके अलावा यदि किसी उर्वरक की कमी होगी तो उसको मंगाकर उर्वरक विक्रेताओं को उपलब्ध करा दिया जायेगा। इसी क्रम में बीजों की जानकारी देते हुए बताया कि इस समय विभाग में तोरिया का बीज 24 कु० आया है। इसके लिए किसान भाई अपने बीज भण्डार पर जाकर अपना नाम नोट करा दें। किसान भाई तोरिया का बीज प्राप्त कर बुवाई जरूर करें। साथ ही किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि के०सी०सी० पर 07 प्रतिशत का ब्याज लगता है। यदि कृषक समय से के०सी०सी० का पैसा जमा करते रहेंगे तो 03 प्रतिशत का ब्याज का छूट हो जाता है इस प्रकार किसान को कुल 04 प्रतिशत का ब्याज ही देता होता है। के०सी०सी० में शासन द्वारा यह भी व्यवस्था बनाई गयी है कि किसान को रूपे कार्ड दिया जाता है जिससे कृषक 25000 रू० कहीं से निकाल व जमा कर सकते हैं ।


मुख्य पशुचिकित्साधिकारी ने किसान दिवस की बैठक में विभागीय योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि किसान भाई गौशालाओं को 02 ट्राली पराली देकर 01 ट्राली गोबर की खाद ले जा सकते हैं। इससे पराली एकत्र भी हो जायेगा और खेतों को जैविक खाद भी मिल जायेगा। इसके अतिरिक्त बताया गया कि विभाग में साईलेज मेकिंग मशीन पर भी 50 प्रतिशत का अनुदान है।

AD

 


बैठक में उपस्थित सभी कृषकों को आश्वासन दिया गया कि किसान दिवस की बैठक में उठाई गयी समस्याओं का समाधान प्राथमिकता के आधार पर कराया जायेगा। राणा सिंह, ग्राम नरौली संग्राम में ट्रान्सफार्मर 02 वर्ष से जला है जिसे ग्राम के ट्रांसफार्मर से जोड़ दिया गया है। परन्तु अभी तक ट्रान्सफार्मर नहीं बदला गया है जिस पर मुख्य विकास अधिकारी द्वारा अधिशासी अभियन्ता, विद्युत को निर्देशित किया गया कि तत्काल नलकूप का खराब ट्रान्सफार्मर बदला जाय।
किसान बैठक में उप कृषि निदेशक, जिला कृषि अधिकारी, जिला कृषि रक्षा अधिकारी, जिला उद्यान अधिकारी, कार्यकारी अधिकारी, मत्स्य, अधिशासी अभियन्ता, विद्युत, देवरिया सदर, अधिशासी अभियंता, नलकूप, अग्रणी जिला प्रन्धक, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, आदि विभागों के अधिकारी गण एवं कृषक राघवेन्द्र प्रताप शाही, भा०कि०यू०, कुंवर राणा प्रताप सिंह, कौशलेश नाथ मिश्रा, रमेश मिश्र, भा०कि०यू०, धनन्जय सिंह, भा०कि०यू०. सदानन्द यादव, भा०कि०यू० व अन्य कृषक गण किसान दिवस में उपस्थित थे।

AD4A