WhatsApp Channel Link

Uttar Pradesh उत्तर प्रदेश सरकार ने जारी किया परिवार पोर्टल अभी करे रजिस्ट्रेशन होगा इतना फायदा


14 करोड़ लोगों को नहीं
बनवानी होगी आईडी,
राशन कार्ड ही आईडी
लखनऊ, विशेष संवाददाता | हर
परिवार के न्यूनतम एक सदस्य को
रोजगार से जोड़ने की बड़ी योजना पर
काम कर रही योगी सरकार ने ‘परिवार
आईडी- एक परिवार एक पहचान’
बनवाने के लिए ऑनलाइन पोर्टल
https://familyid.up.gov.in बुधवार
को जारी कर दिया है। ऐसे सभी परिवार
जो राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के पात्र
नहीं हैं. यानी जिनके पास राशन कार्ड
नहीं है, वह परिवार आईडी बनवा
सकेंगे, जबकि राशन कार्ड धारक
परिवारों की राशन कार्ड आईडी ही
उनकी परिवार आईडी मानी जाएगी।
मुख्य सचिव द्वारा इस संबंध में आदेश
भी जारी कर दिया गया है।
जरूरी है आईडी बननाः मुख्यमंत्री
योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुसार,
एक परिवार एक पहचान योजना के
तहत प्रत्येक परिवार को एक विशिष्ट
पहचान जारी की जाएगी, जिससे राज्य
की परिवार इकाइयों का एक लाइव
व्यापक डेटाबेस बनेगा। यह डेटाबेस
लाभार्थीपरक योजनाओं के बेहतर
प्रबंधन, समयबद्ध लक्ष्यीकरण,
पारदर्शी संचालन एवं योजना का शत-
प्रतिशत लाभ पात्र व्यक्तियों तक
पहुंचाने और जनसामान्य के लिए
सरकारी सुविधाओं के सरलीकरण
करने में सहायक होगा।
ऐसे बनेगी परिवार आईडी :
परिवार का कोई वयस्क सदस्य स्वयं
एवं परिवार के अन्य सदस्यों की ओर
से परिवार आईडी पोर्टल के माध्यम से
ऑनलाइन आवेदन कर सकता है।
यदि कोई आवेदक फैमिली आईडी
यह होगा फायदा
इस आईडी से परिवार के किसी
एक सदस्य द्वारा जाति / निवास
प्रमाण पत्र आदि प्राप्त करने के बाद
परिवार के अन्य सदस्यों द्वारा
आवेदन करने की स्थिति में
सुगमता से बिना किसी विलम्ब के
प्रमाण पत्र उपलब्ध हो सकेगा।
बनाने के लिये स्वयं आवेदन करता
है, तो किसी भी प्रकार का यूजर चार्ज
देय नहीं होगा। जनसेवा केन्द्रों के
माध्यम से आवेदन करने पर 30 रुपये
शुल्क देना होगा। परिवार आईडी
बनवाने के लिए आवेदन के सत्यापन
की प्रक्रिया ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल की
तरह होगी, जिसके तहत उल्लिखित
परिवार एवं परिवार के सदस्यों का
सत्यापन शहरी क्षेत्रों में उप
जिलाधिकारी द्वारा संबंधित लेखपाल
के माध्यम से और ग्रामीण क्षेत्रों में खंड
विकास अधिकारी द्वारा संबंधित ग्राम
पंचायत अधिकारी / ग्राम विकास
अधिकारी के माध्यम से किया जाएगा।

AD4A