WhatsApp Channel Link

रिश्ते में चाचा ने भतीजी से किया दुष्कर्म किशोरी हुई गर्भवती पिता ने रची अपहरण की झूठी कहानी

उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिला से हैरान कर देने वाली मामला सामने आया है मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 13 वर्षीय किशोरी से रिश्ते में चाचा लगने वाला व्यक्ति ने किया दुष्कर्म किशोरी हुई गर्भवती दी एक बच्चे को जन्म किशोरी के पिता ने रची अपहरण की झूठी कहानी

पूरा मामला उत्तर प्रदेश कौशांबी जिला का है जहां 13 वर्षीय किशोरी के साथ दुष्कर्म हुआ आरोपी जेल में है

दुष्कर्म पीड़िता के पिता ने क्यों रची अपहरण की झूठी कहानी

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने मीडिया से बातचीत में बताया कि 13 वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता के पिता का अपहरण मामले में पुलिस ने 8 घंटे के अंदर सकुशल बरामद कर लिया जानकारी के मुताबिक मंगलवार शाम को चाचा ने तहरीर देते हुए पुलिस को बताया था कि मेरे सगे भाई को अपहरण कर लिया गया है जिसके बाद चरवा और कड़ाधाम थाना के साथ एसओजी की टीम पीड़िता के पिता की तलाश में जुट गई वहीं संयुक्त टीम को जांच के दौरान पीड़िता के पिता की मोबाइल की लोकेशन के आधार पर जानकारी मिली जिसके बाद टीम में पीड़िता के पिता को लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन से सकुशल बरामद कर लिया किशोरी के पिता ने बताया कि मंगलवार को वह जेल में बंद रेपिस्ट की हाई कोर्ट में जमानत के लिए सुनवाई होनी थी जहां वकील ने उसको भी बुलाया था लेकिन एक व्यक्ति ने उसे बताया कि अगर वह अपहरण का मुकदमा लिखवा देगा तो उससे रेपिस्ट की जमानत नहीं होगी जिस के बांकावे में आकर उसने खुद को अपहरण की झूठी अफवाह फैला दी इसके बाद वह खुद बस में बैठकर लखनऊ चला गया जिसके बाद पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर बरामद कर ली

AD

 

इस मामले पर पुलिस अधीक्षक कौशांबी का क्या कहना है

इस पूरे मामले पर पुलिस अधीक्षक कौशांबी ने दी जानकारी पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि चरवा थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 13 वर्षीय किशोरी के साथ पड़ोसी के एक युवक ने दुष्कर्म किया था जिसके बाद किशोरी गर्भवती हो गई थी जब इस मामले की खुलासा हुआ तो किशोरी के पिता ने थाने में तहरीर देकर इसकी जानकारी दी ओर पुलिस से कार्रवाई करने की मांग की इसके बाद पुलिस ने आरोपी को 10 अगस्त को गिरफ्तार कर नियम अनुसार कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया वही जानकारी के मुताबिक दुष्कर्म पीड़िता ने 15 दिसंबर को जिला अस्पताल में बच्चे को जन्म दिया जिसका जिला अस्पताल में नवजात बच्चे का इलाज किया जा रहा है जबकि बच्चे की मां को अस्पताल से घर भेज दिया गया है.

AD4A