WhatsApp Channel Link

Deoria news देवरिया जिसे घरवाले मृत समझकर नदी में फेंका 15 साल बाद लौटा घर

उत्तर प्रदेश के देवरिया जनपद में एक अनोखा मामला देखने को मिला है 15 साल पहले जिस युवक को सांप ने काटा था उसे घरवाले मृत समझकर सरयू नदी में केला के टहनी पर नदी में प्रवाह कर दिए थे लेकिन 15 साल बाद अचानक जब अपने घर पहुंचा तो गांव और घर के लोग भौचक्का रह गए लेकिन सभी के चेहरे पर मुस्कान लौट गई ।

पूरा मामला उत्तर प्रदेश के देवरिया जनपद के भागलपुर विकासखंड के मुरासो गांव का है जहां 15 वर्ष पूर्व एक किशोर को सांप ने डस लिया जिसके बाद बालक के परिजन झाड़-फूंक करवाए अस्पताल में ले गए डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया और बालक के मुंह से झाग निकल रहा था जिसके पिता का नाम राम सुमेर यादव पुत्र अंगेश यादव जब 10 साल का था तब उसे सांप ने डस लिया था अंगेश के मुंह से झाग निकल रहा था इस वजह से घरवाले उसे मरा समझ कर सरयू नदी में केला के डहनि पर बहा दिए ।

मरा हुआ अंगेश यादव कैसे हुआ जीवित

AD

 

जब डॉक्टर ने अंगेश यादव को मृत घोषित कर दिया था फिर अंगेश यादव कैसे जीवित हो गया अंगेश ने बताया उसे पटना में एक सपेरे ने नदी से निकाल कर जीवित किया जिसका नाम था अमर माली वह मुझे झाड़ फूंक कर ठीक कर दिया उसने ही मुझे पाला और दूर-दूर तक सांप का तमाशा दिखाने के लिए हमें भी ले जाता था कुछ दिन बाद कटिहार में रखा फिर 5 साल बाद अमृतसर ले गया वहां मुझे एक जमीदार के पास नौकरी पर रख दिया 3 माह से वहां हम पर एक लड़की से शादी करने की दवा बनाया जा रहा था तब मैने एक ट्रैक ड्राइवर को अपनी पूरी बात बताया जिसके बाद ट्रक ड्राइवर ने मुझे लेकर बलिया जिला के बेल्थरा रोड पहुंचा जिसके बाद मेरा फोटो व्हाट्सएप के जरिए वायरल हुआ उसके माता-पिता तक पहुंचा जिसकी जानकारी होने के बाद माता-पिता । अपने पुत्र को पहचान गए उधर अंगेश को मनियर थाने पर पहुंचा दिया गया था अंगेश के माता-पिता थाने पर पहुंचकर अंगेश को पहचान लिए अंगेश ने अपने माता और चाचा चाची को पहचान लिया और अपने गांव के दोस्तों का नाम बताया जिसके बाद सभी के चेहरे पर मुस्कान छा गई । पुलिस ने ग्राम प्रधान पति व परिजन को अंगेश को सौंप दि

AD4A